बीवियों की अदला बदली और साथ में ग्रुप सेक्स

थोड़ी देर बाद मैंने निक्की को नीचे लिटा दिया और उसकी चूत और गांड में उंगली डाल कर हिलाने लगी. अजय और समीर अपना लंड उसे चूसाने लगे. निक्की को भी बहुत मजा आ रहा था. वह मुंह से आवाजें निकल रही थी.

थोड़ी देर बाद अजय आया और पीछे से मेरी चूत में लंड घुसा दिया और मुझे डॉगी स्टाइल में चोदने लगा समीर ने भी निक्की को उठाया और वह भी उस को डॉगी स्टाइल में चोदने लगा.

वह हम दोनों को बहुत तेज चोद रहे थे जैसे कोई कंपटीशन हो. मेरा और निकी का मुंह आमने सामने था और हमें एक दूसरे के पति से चुदवाने में बहुत मजा आ रहा था. करीब चार पांच मिनट तक इस तरह चुदने के बाद हम रुक गए और लेट गए.

एक दो मिनट आराम करने के बाद मैं अपने पति समीर के खड़े हुए लंड पर बैठ गई और उछलने लगी. समीर भी नीचे से मुझे धक्के मारने लगा फिर निक्की उठकर समीर के फेस पर बैठ कर अपनी चूत चटवाने लगी. समीर मुझे चोद रहे थे और निकी की चूत चाट रहे थे. मैं और निकी एक दूसरे को किस कर रहे थे.

तभी अजय ने पीछे से आकर अपना लंड मेरी गांड के छेद पर लगा दिया. मैंने कहा गांड में मत करो, प्लीज़, बहुत दर्द होगा. निक्की बोली प्रीती कुछ नहीं होगा. मैंने वैसे भी उंगली डालकर तेरी गांड ढीली कर दी है. अब अजय ने धीरे धीरे मेरी गांड में लंड घुसाना शुरू कर दिया.

मैं दर्द से चिल्लाई तो निक्की ने मेरा मुंह बंद कर दिया. अजय का लंड पूरा मेरी गांड में चला गया. उसने धीरे धीरे लंड आगे पीछे करना शुरू कर दिया और फिर स्पीड बढ़ा दी. निक्की ने भी समीर से उसकी गांड में उंगली डालने को बोला. समीर चूत चाटने के साथ साथ निकी की गांड में उंगली भी अंदर बाहर कर रहा था. मेरी चूत और गांड दोनों में लंड घुसे थे. समीर मुझे कुत्तों की तरह चोद रहे थे.

थोड़ी देर बाद में जड गई और साइड में लेट गई. अब निक्की की बारी थी. अजय निक्की की चूत और समीर निक्की की गांड मारने लगे. निक्की खूब मजे से चुदाई का मजा ले रही थी. थोड़ी देर बाद निक्की भी झड़ गई. फिर हम दोनों ने अपना अपने पति का लंड हीलाकर उनका वीर्य निकाला. फिर हम सब नंगे ही सो गए.