कॉलेज छूटने के बाद मेरी गांड फाड़ दे

मैंने फिर से अपना मूड बनाया और उस को किस करने लगा. वह भी साथ देने लगी. मैंने कहा इस बार में तेरी गांड में अपना लंड डालूंगा, उसने सिंपल हां कर दी फिर मैंने उसको जमीन में लिटाया और उसकी गांड में तेल लगाकर मसलने लगा. और अपने लंड को पकड़कर उसकी गांड के छेद में डाल कर उसे धक्का दिया, वह चिल्लाने लगी, गांडू बाहर निकाल अपना लंड, मैंने कहा चुप रंडी आज तेरी जवानी का पूरा मजा लेना है, और एक झटके से पूरा लंड उसकी गांड में डाल दिया, उसको बहुत दर्द हो रहा था और खून भी निकल गया था, लेकिन मैं उसको लगातार चोदने लगा और वह चिल्लाती रही. उसको गांड में इतने धक्के मारे की वह जिंदगी भर याद रखेगी. मेरे लंड ने पूरी ताकत उसकी गांड में लगा दी थी.

मेरी एक उंगली उसकी चूत में थी, वह चोदो चोदो मुझे मेरी गांड फाड़ दे कर रही थी उसको भी बहुत मजा आ रहा था, मेरा लंड भी पानी छोड़ने वाला था, इस बार मैंने अपना पूरा पानी उसकी बॉडी में छोड़ दिया और उसको इस बात पर मुझे एक थप्पड़ भी मारा, लेकिन मैंने उसको फिर किस किया और उसके बाजू में जाकर लेट गया.

फिर मैं और वह फ्रेश हो गए क्योंकि प्रिया का मैसेज आया कि वह १५ मिनट में आ रही है, फिर हम दोबारा साथ बैठ कर नोट्स लिखने लगे और शाम को मैं अपने नोट्स लेकर पर चला गया, अंकल आंटी के आने के बाद मैं और प्रिया वहां से निकल गए.