मैं और मेरी सेक्सी भाभी!

अब मैं थक गया था। भाभी बोली “तुमने तो मेरे बहुत मज़े ले लिए। मेरे शानदार फ़ीगर वाले बूब्स को चूस-चूस कर और मसल-मसल कर लटका दिया और खाली कर दिया अब मेरी बारी है”। मैं लेट गया। भाभी मेरे उपर चढ़ गई और मेरे सीने को मसलने और चूसने लगी और मेरे भी छोटे-छोटे बोबे निकाल दिये। मैं भी भाभी के बूब्स को मसल रहा था फिर भाभी मेरे लंड को पकड़ कर चूसने लगी। करीब 15 मिनट तक उसने मेरे लंड को चूसा।

अब हम दोनो को नींद आ रही थी। हम उसी हालत में सो गये। सुबह उठ कर हम दोनो साथ मे ही टब में नहाये । मैने भाभी के एक-एक अंग को रगड़-रगड़ कर धोया। इसके बाद भी हम दोनों कई दिन तक सेक्स का आनंद लेते रहे। अब जब कभी भी मौका मिलता है तो हम दोनों शुरु हो जाते हैं। साथ में घर पर ही नेट पर साइट्स देखते हैं। मुझे तो साड़ी सेक्स बहुत पसन्द है। एक-एक कपड़ा, ब्लाउज, साडी, ब्रा और पेटीकोट खोलने का मज़ा ही कुछ और है।