पड़ोस की लड़की का डर

जब मैं छत में टहल रहा था तो मैंने सुमन की खिड़की पर देखा तो वह भी अंदर अपने रूम में कुछ काम कर रही थी और कुछ देर बाद वह छत पर आ गई। जब वह छत पर आई तो मैंने उसे फोन कर दिया, वह भी मुझसे फोन पर बात करने लगी। मुझे सुमन से फोन पर बात करते हुए अच्छा लग रहा था और मैं उससे काफी देर तक बात कर रहा था। मैंने सुमन से पहली बार ही इतनी फोन पर बात की थी और उसे भी मुझसे फोन पर बात करना अच्छा लगने लगा क्योंकि उसे बहुत डर लग रहा था। वह मुझसे बार-बार इस बात का जिक्र कर रही थी कि मुझे कल से बहुत ज्यादा डर लग रहा है। मैंने उसे कहा कि तुम बिल्कुल भी उसकी चिंता मत करो, तुम्हें डरने की कोई जरूरत नहीं है। मैंने उस दिन उसके घर के बारे में भी पूछ लिया। उसने मुझे बताया कि उसके पिताजी स्कूल में अध्यापक हैं और उसके भैया किसी प्राइवेट कंपनी में जॉब करते हैं। हम दोनों फोन पर बात कर रहे थे और बात करते करते हम दोनों एक दूसरे से अश्लील बातें करने लगे और मेरा भी मन बहुत खराब होने लगा। मैंने सुमन से कहा कि मैं तुम्हारे घर पर आ रहा हूं। वह कहने लगी ठीक है मैं अपने घर का दरवाजा खोल देती हूं और तुम अंदर आ जाना। उसके कमरे मे जाने के लिए एक छोटा सा गेट था इसलिए उसके मकान मालिक को कुछ भी पता नहीं चला और मैं उस गेट के रास्ते उसके कमरे में चला गया। जब मैं सुमन के कमरे में गया तो वह मुझे कहने लगी तुम तो बहुत ही जल्दी मेरे कमरे में आ गए। मैंने सुमन को किस करना शुरू कर दिया और किस करके मैंने उसे अपनी बाहों में ले लिया उसका शरीर मेरी बाहों में था और मुझे बहुत अच्छा महसूस होने लगा। मैंने उसके स्तनों को दबाना शुरू कर दिया उसके स्तन बड़े थे मुझे उसे दबाने में मजा आ रहा था। मैंने जब उसकी गांड को दबाया तो उसे अच्छा लगने लगा और मैंने उसे नंगा कर दिया। जब मैने उसे नंगा किया तो मुझे उसका बदन देखकर अच्छा लगा। उसने मेरे लंड को मेरे लोअर से बाहर निकालते हुए अपने मुंह में ले लिया वह मेरे लंड को बहुत अच्छे से अपने मुंह में ले रही थी मुझे भी अच्छा महसूस होने लगा।

मैंने उसे उठाते हुए उसके बिस्तर पर पटक दिया और उसके स्तनों को चूसने लगा मुझे उसके स्तनों को चूसने में बहुत अच्छा लग रहा था। मैंने उसके पूरे शरीर का रसपान किया उसके बाद मैंने उसकी योनि पर जैसे ही जीभ लगाई तो उसकी योनि बड़ी ही चिकनी और मुलायम थी उसकी योनि से पानी बाहर आने लगा था वह भी पूरे मूड में आ गई। जैसे ही मैंने उसकी योनि में अपने लंड को डाला तो वह चिल्लाने लगी और अपने पैर को चौड़ा करने लगी मैंने भी उसे बड़ी तेजी से चोदाना शुरू कर दिया। वह मुंह से मादक आवाज निकल रही थी वह कह रही थी तुम्हारा बहुत ही ज्यादा मोटा है मुझे तुम्हारा लंड अपनी योनि में लेने में बहुत मजा आ रहा है। मुझे नहीं पता था कि सुमन की योनि से खून निकल जाएगा जब मैंने उसकी चूत को देखा तो उससे खून निकल रहा था। मैंने उसे बड़ी तेज झटके मारे उन झटको के बीच में मेरा वीर्य गिरने वाला था मैंने अपने लंड को सुमन के चूचो पर गिरा दिया उसने अपने चूचो को साफ किया और उसके बाद मैंने उसे घोड़ी बना दिया। जैसे ही मेरा लंड सुमन की योनि में गया तो वह चिल्लाने लगी और उसे बड़ा अच्छा महसूस होने लगा। मैंने भी उसे बड़ी तेजी से झटके देना शुरू कर दिया और उसका शरीर भी पूरी तरीके से गर्म हो चुका था। वह भी मेरा पूरा साथ दे रही थी और कह रही थी तुम बड़े ही अच्छे से मुझे धक्के मार रहे हो मुझे बहुत मजा आ रहा है। लेकिन उसकी योनि से कुछ ज्यादा ही गर्मी बाहर निकलने लगी जब मेरा वीर्य उसकी योनि में गिरा तो उसे बहुत अच्छा महसूस होने लगा मैं उसी के ऊपर लेट कर सो गया।