पड़ोस वाले अंकल की बेटी चुदासी थी

रात के करीब 12 बजे में अपने बिस्तर से उठा और चुपके से सीमा के कमरे में चला गया और धीरे से उसकी चादर हटा कर उसके साथ ही लेट गया. जब कुछ देर तक उसकी तरफ से कोई हरकतपूरी कहानी पड़े … पड़ोस वाले अंकल की बेटी चुदासी थी

इंटरनेट चैटिंग साइट से चुदाई तक

मैं भी अब उसे तड़पाने के मूड में नहीं था. फिर मैंने उसकी लेगिंग को वहीं पर फाड़ दिया और साथ में ही उसकी पिंक कलर की पैंटी भी फाड़ दी और उसकी चूत के दाने को थोड़ा सा सहलापूरी कहानी पड़े … इंटरनेट चैटिंग साइट से चुदाई तक

पड़ोसन ने मुझे दूध पिलाया

अब पूरे कमरे में उसकी सिसकियाँ ही सुनाई दे रही थी. फिर उसने मेरे सर को अपने बोबो में इतना ज़ोर से दबा दिया कि मुझे साँस भी नहीं आ रही थी. अब मैं बेकाबू हो गया था. फिर मैंनेपूरी कहानी पड़े … पड़ोसन ने मुझे दूध पिलाया

जेठ के बड़े लन्ड बुझी मेरे चूत की प्यास

जेठ जी को अब पता चल चुका था कि मैं चुदासी हूँ और अब गर्म हो रही हूँ. फिर उन्होंने मेरे पेटीकोट का नाड़ा खींच कर उसे उतार दिया. फिर उन्होंने मेरा ब्लाउज भी उतार दिया और मेरे मम्मों कोपूरी कहानी पड़े … जेठ के बड़े लन्ड बुझी मेरे चूत की प्यास

मेरी नई पड़ोसन और मेरी पहली चुदाई

अब वो मेरे सामने सिर्फ ब्लाऊज़ और पेटीकोट में थी. फिर उन्होंने मेरी चैन खोल कर मेरे लण्ड को पकड़ लिया और बोली कि आपका तो बहुत बड़ा है जबकि आपके भैया का तो केवल 5 इंच का ही है.पूरी कहानी पड़े … मेरी नई पड़ोसन और मेरी पहली चुदाई

पड़ोसी पनवाड़ी को घर बुलाकर मैं उसके लन्ड की दिवानी हुई

फिर उसने मेरे ब्लाउज के बटन खोले और मेरे बूब्स को आजाद कर दिया और मेरे रसीले बूब्स को अपने होंठों में लेकर वो चूमने, चाटने और मसलने लगा. इस सब में मुझे एक अलग ही एहसास आ रहा थापूरी कहानी पड़े … पड़ोसी पनवाड़ी को घर बुलाकर मैं उसके लन्ड की दिवानी हुई